HISTORY OF UNA DISTRICT | UNA HISTORY FOR HAS |UNA HP GK

HISTORY OF UNA

UNA STATE (ऊना रियासत):

  • Una District,ऊना का पुराना नाम “जस्वा” था और इसे “जस्वान दून” के नाम से भी जाना जाता था ।
  • “जस्वा” रियासत की स्थापना 1170 ई. में काँगड़ा के कटोच वंशज के राजा “पूर्व चंद” ने की थी।
  • कुटलेहर रियासत भी UNA  District का हिस्सा थी जो काँगड़ा रियासत से टूट कर बनी थी।
  • कुटलेहर रियासत काँगड़ा जिले की सबसे छोटी रियासत थी। कुटलेहर रियासत की स्थापना जसपाल नामक ब्राह्मण ने की थी।
  • कुटलेहर रियासत की राजधानी “कोट कहलूर” थी। “कोट कहलूर” रियासत का निर्माण “कहाल चन्द्र” ने करवाया।
  • “कोट कहलूर” की रानियाँ “कुमकुम देवी” और “धनसार देवी” ने “तातर खान” की सेनाओ से सरहिंद जाकर लड़ाई की थी।
  • कुटलेहर रियासत के अंतिम “राजा वृजमोहन” पाल थे।
  • UNA शहर की नीव “बाबा कलाधारी” ने रखी थी।
  • 1972 ई. में ऊना को जिले का दर्जा प्रदानं किया गया।
  • UNA को जिले का दर्जा हिमाचल के प्रथम मुख्यमंत्री डॉक्टर यशवंत सिंह परमार ने दिया।

IMPORTANT POINT :

  • UNA  District में कुछ प्रमुख मेले जैसे चिंतपूर्णी मेला,बसोली में “पीर निगाह मेला” और मेडी में “बाबा बडभाग सिंह” मेला प्रसिद्ध है।
  • UNA-NANGAL रेल लाइन 1991 ई. में बनाई गयी। इस “ब्रांड गेज” रेल लाइन के नाम से जाना जाता है।
  • UNA  Districtके पूर्व में “जस्वा धार” है और इसे चिंतपूर्णी धार के नाम से भी जाना जाता है।इसी धार को Hamirpur में “सोलह सिंगी” धार के नाम से जाना जाता है।
  • UNA District का सबसे बड़ा गाँव “देहला” है।
  • “स्वान परीयोजना” भी हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले में है।
  • UNA का जिले के रूप में गठन 1972 ई. में हुआ।
  • 1966 में हिमाचल प्रदेश से विलय से पहले UNA शहर Hoshiarpur का हिस्सा था।
  • UNA District 3121 से 3150उतरी अक्षांश और 7618से 7628 पूर्वी देशांतर के बीच स्थित है।

 READ MORE ARTICLE: HISTORY OF HAMIRPUR

 

Share Now

Related posts

Leave a Comment