Green Revolution In India | भारत में हरित क्रांति की शुरुआत

Green Revolution In India | भारत में हरित क्रांति की शुरुआत

Green Revolution:

  •  भारत में कृषि के विकास के लिए हरित क्रांति (Green Revolution)की शुरुवात हुई। भारत में हरित क्रांति का श्रेय डॉ. स्वामीनाथन को जाता है। इन्होने प्रथम हरितक्रांति की शुरुवात की थी।
  • प्रथम  हरित क्रांति की शुरुवात 1966-1967  में हुई।
  • भारत में दूसरी हरित क्रांति की शुरुवात 1983 में हुई। ये चावल की खेती के लिए चलाई गयी थी।
  • हरित क्रांति (Green Revolution) का सबसे अधिक प्रभाब चावल और गेहू की खेती पर पड़ा। परन्तु गेहू के उत्पादन में चावल से अधिक वृद्धि हुई।

भारत में हरित क्रांति की शुरुआत :

IMPORTANT FACTS

  • विश्व में हरित क्रांति के जनक प्रोफेसर नार्मन बोरलॉग थे। इनका पूरा नाम है प्रोफेसर नार्मन अर्नेस्ट बोरलॉग। इन्हे नोबेल शांति पुरस्कार मिला था और ये एक अमेरिकी कृषि वैज्ञानिक थे। 
  • भारत में हरित क्रांति (Green Revolution) के जनक डॉ. स्वामीनाथन थे। डॉ. स्वामीनाथन जी को भारत सरकार द्वारा सन 1967 पदमश्री,1972 में पदम् भूषण और 1989 में पदम् विभषण से सम्मानित किया गया।

विभिन्न कृषि क्रांतियां 

हरित क्रांति————————- खाद्यान्न उत्पादन   (Important)

श्वेत क्रांति ————————–  दुग्ध उत्पादन   (Important)

नीली क्रांति ————————-  मत्स्यन उत्पादन (Important)

भूरी क्रांति —————————-उवर्रक उत्पादन

पीली क्रांति —————————तिलहन उत्पादन   (Important)

रजत क्रांति —————————-अंडा उत्पादन

गोल क्रांति —————————– आलू उत्पादन    (Important)

सुनहरी क्रांति ————————– जूट और फल आलू उत्पादन  (Important)

बादामी क्रांति—————————– मसाला उत्पादन

लाल क्रांति ———————————टमाटर और मांस उत्पादन   (Important)

कृष्ण क्रांति ——————————–बायोडीज़ल उत्पादन

 कुछ मह्त्बपूर्ण बातें 

सबसे ज्यादा उत्पादन भारत के किस राज्य में और किस चीज़ का है आइये जानते है:

1) जम्मू और कश्मीर  — केसर

भारत में केसर का एक मात्र उत्पादक राज्य जम्मू और कश्मीर है।

2) उत्तर प्रदेश — गेहूं,गन्ना,दूध,आलू उत्पादन

भारत में गेहूं में उत्तर प्रदेश का स्थान प्रथम है,जबकि प्रति हेक्टेयर उत्पादन में पंजाब 

का स्थान प्रथम है।

3) प. बंगाल  — जूट,चावल

विश्व में चावल उत्पादन में चीन के बाद भारत का दूसरा स्थान है। भारत में खाद्यान्नों के अन्तगर्त

आने वाले कुल क्षेत्र के 47% भाग पर चावल की खेती की जाती है। मतलब भारत में सबसे ज्यादा

चावल की खेती होती है अन्य खाद्य फसलों के मुकाबले।

IR-20  एक चावल की किस्म/Varity है   (Important)


4) असम — चाय

मध्यप्रदेश — सोयाबीन,दलहन ,तिलहन,चना

राजस्थान —सरसो

गुजरात— कपास,मूंगफली

महाराष्ट्र— अरहर,प्याज़,अंगूर,आम

5) आम भारत का राष्ट्रीय फल है। (KING OF FRUIT)

आम,केला,नींबू ,काजू ,नारियल,काली मिर्च ,अदरक,हल्दी के उत्पाद में भारत का स्थान

विश्व में प्रथम है।

6) कर्नाटक—कॉफी,सनफ्लॉवर,रेशम

कुर्ग जिले में कॉफी सबसे अधिक पैदा होती है।

7) केरल— प्राकृतिक रबर,गरम मसाले ,काजू ,नारियल ,काली मिर्च

प्राकृतिक रबर के उत्पादन में भारत का विश्व में चौथा स्थान है।

8) आंध्र प्रदेश — हल्दी,तम्बाकू,मक्का

तम्बाकू की पतियों को सूखाने की प्रक्रिया को क्या कहते है —- क्यूरिन    (Important)

   भारत में बोइ जाने वाली फसल 

   भारत में तीन प्रकार की फसल बोई जाती है :

   रबी की फसल: 

   ये अक्टूबर-नवम्बर में बोई जाती है। मार्च अप्रैल में काटी जाती है।

   जैसे गेहूं,चना,मटर,सरसो।

   खरीफ की फसल:  ये जून ,जुलाई में बोई जाती है। अक्टूबर-नवम्बर  में काट ली जाती है।

   जैसे: बाजरा,मक्का,गन्ना,धान,कपास,चावल,सोयाबीन,तिलहन,ज्वार।

   जायद फसल:

   ये मई-जून में बोई जाती है। जुलाई-अगस्त में काट ली जाती है।

   जैसे राई,मक्का,ज्वार।

   नगदी की फसल: ये फसल व्यापर के उद्देश्य से उगाई जाती है।

   जैसे -कपास,गन्ना,तम्बाकू,जूट.

Click here: Mahatma Gandhi MCQ   

Share Now

Related posts

Leave a Comment